क्या चल रहा है?

संघर्ष के दिनों में जिन लोगों ने भरा पेट, आज उन्हीं की जिम्मेदारी उठा रहा है यह भारतीय खिलाड़ी

[ad_1]

भारतीय फुटबॉल टीम के खिलाड़ी मदद के लिए आगे आए हैं

भारतीय फुटबॉल टीम के खिलाड़ी मदद के लिए आगे आए हैं

भारत (India) में कोरोना वायरस (Coronavirus) के कारण लॉकडाउन चल रहा है जिससे दिहाड़ी मजदूरों पर ज्यादा असर पड़ा है

नई दिल्ली. कोविड-19 (Covid-19) की महामारी के बीच भारत (India) में कई खिलाड़ी मुश्किल में पड़े लोगों के लिए मसीहा बनकर सामने आए हैं. जहां कुछ खिलाड़ी पैसों से मदद कर रहे हैं तो कुछ खाना बांट कर भूखों का पेट भर रहे हैं. इस बीच खबर आई थी कि भारतीय फुटबॉलर सीके विनीत (CK Vineeth) ने केरल में लोगों की मदद के लिए हेल्पलाइन से जुड़ने का फैसला किया. अब उन्हीं के साथी और टीम के लेफ्ट बैक खिलाड़ी सुभाशीष बोस (Subhasish Bose) भी उन लोगों की मदद के लिए आगे आए हैं जिन्होंने मुश्किल समय में उनकी मदद की थी.

भूखों को खाना बांट रहे हैं सुभाशीष
सुभाशीष बोस (Subhasish Bose) दक्षिण 24 परगना जिले के अपने गृहनगर सुभाषग्राम में बेघरों और बेरोजगारों को खाना खिला रहे हैं. देशभर में लाकडाउन के बीच सुभाषग्राम में हर सुबह स्थानीय रिक्शा चालकों, दिहाड़ी मजदूरों और छोटे-मोटे रेहड़ी-पटरी वालों की लंबी लाइन देखी जा सकती है जो अपने लिए राशन लेने आते हैं. भारतीय टीम के सदस्य बोस दूसरी तरफ इन लोगों को खाने के पैकेट बांट रहे होते हैं जिसमें चावल, दाल, आलू, प्याज और अन्य जरूरी सामान होता है. वह इस तरह लोगों की मदद कर रहे हैं.

दिहाड़ी मजदूरों की मदद के लिए आगेशुक्रवार से लोगों के बीच खाने का सामान बांट रहे बोस (Subhasish Bose) ने पीटीआई से कहा, ‘रिक्शा चलाने वाले कितनी बार मुझे स्थानीय मैचों के लिए मुफ्त में लेकर गए और वापस आए, शानदार प्रदर्शन के बाद स्थानीय दुकानदारों ने मुफ्त में मुझे खाने के पैकेट दिए… मुझे लगता है कि अब समय है कि मैं उन्हें कुछ वापस दूं.’ उन्होंने कहा, ‘उस समय काफी संतोष होता है जब मैं अपने इलाके में उन जाने पहचाने चेहरों को खाने का सामान देता हूं जिनके सामने मैं बड़ा हुआ.’

कोविड-19 (Covid-19) महामारी के संक्रमण को रोकने के लिए भारत में 24 मार्च ने लाकडाउन घोषित किया गया है और इसके बाद निचले तबके के लोगों और दिहाड़ी मजदूरों को सबसे अधिक परेशानी का सामना करना पड़ रहा है. बोस के अलावा भारतीय फुटबॉल टीम के स्ट्राइकर जेजे लालपेखलुआ (Jeje lalpekhlua) ने कोविड-19 (Covid-19) महामारी से पैदा हुई परिस्थितियों में मिजोरम में जरूरतमंद लोगों को बचाने के लिये खुद रक्तदान करने का फैसला किया क्योंकि वहां खून मिलने में काफी दिक्कत हो रही है

इस भारतीय खिलाड़ी ने कहा- टेस्ट में हो केएल राहुल की वापसी, टी20 वर्ल्ड कप जिताने का दम

भारतीय खिलाड़ियों को मोबाइल से दूर रहने की सलाह, नहीं मानी बात तो होगा बड़ा नुकसान!






[ad_2]

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Recent Posts

Covid – 19

Live COVID-19 statistics for
India
Confirmed
31,293,062
Recovered
30,468,079
Deaths
419,470
Last updated: 5 seconds ago

Live Tv

Advertisement

rashifal