क्या चल रहा है?

डिएगो माराडोना ने अपने विवादित ‘हैंड ऑफ गॉड’ से मांगी मदद, कहा- खत्म करो यह महामारी

[ad_1]

डिएगो माराडोना दिग्गज फुटबॉलर हैं

डिएगो माराडोना दिग्गज फुटबॉलर हैं

अर्जेंटीना (Argentina) में कोरोना वायरस (Coronavirus) के कारण 20 मार्च से लॉकडाउन है. वहां अभी 4114 लोग इस बीमारी से संक्रमित हैं जबकि 207 लोग अपनी जान गंवा चुके.

नई दिल्ली. अर्जेंटीना (Argentina) के अपने जमाने के दिग्गज फुटबॉलर डिएगो माराडोना (Diego Maradona) ने ‘हैंड ऑफ गॉड’ से विश्व को कोरोना वायरस (Coronavirus) महामारी से मुक्ति दिलाने की प्रार्थना की जिससे सभी लोग फिर से सामान्य जिंदगी जी सकें. विश्व कप विजेता माराडोना (Diego Maradona) ने 1986 के विश्व कप की उस घटना का जिक्र किया जब उन्होंने हाथ की मदद से गोल किया था. बाद में उन्होंने इसे ‘हैंड ऑफ गॉड’ यानि ईश्वर का हाथ करार दिया था.

कोरोना वायरस के खिलाफ हैंड ऑफ गॉड से मांगी मदद
माराडोना ने इंग्लैंड के खिलाफ किये गये विवादास्पद गोल का संदर्भ जोड़ते हुए कहा, ‘आज हमारे साथ यह हुआ है और कई लोग कह रहे हैं कि यह ईश्वर का नया हाथ (हैंड ऑफ गॉड) है. लेकिन आज मैं इस हाथ से यह महामारी समाप्त करने के लिये कह रहा हूं ताकि लोग फिर से स्वस्थ और खुशियों से भरी जिंदगी जी सकें. ’

माराडोना 1986 में मैक्सिको में खेले गये विश्व कप में अर्जेंटीना के कप्तान थे. उन्होंने क्वार्टर फाइनल में अर्जेंटीना की इंग्लैंड के खिलाफ 2-1 से जीत के बाद कहा था, ‘यह ईश्वर का हाथ यानि ‘हैंड ऑफ गॉड’ था.’ उनका यह कथन खेल जगत की सबसे चर्चित टिप्पणियों में शामिल है.ह

समाप्त हो चुका है अर्जेंटीना का फुटबॉल सीजन
अर्जेंटीना में फुटबॉल का वर्तमान सत्र समाप्त कर दिया गया है इससे माराडोना की टीम जिमनेसिया दूसरी डिवीजन में खिसकने से बच गयी. अर्जेंटीना में कोरोना वायरस के कारण 20 मार्च से लॉकडाउन है. वहां अभी 4114 लोग इस बीमारी से संक्रमित हैं जबकि 207 लोग अपनी जान गंवा चुके. अर्जेंटीनी फुटबॉल संघ के अध्यक्ष क्लाडियो टैपिया ने कहा कि वह 2019-20 सत्र को समाप्त करने जा रहे हैं जो कि कोरोना वायरस महामारी के कारण मार्च के मध्य से बाधित है.

टैपिया ने स्थानीय समाचार चैनल से कहा, ‘हम टूर्नामेंट को समाप्त करने जा रहे हैं ताकि हम अगले साल होने वाली महाद्वीपीय प्रतियोगिता के लिये क्वालीफाई करने वाली टीमों की घोषणा कर सकें. ’

अर्जेंटीनी फुटबाल संघ ने इसके साथ ही कहा कि इस बार किसी भी टीम को निचले डिवीजन में नहीं खिसकाया जाएगा क्योंकि महामारी के कारण सत्र पूरा नहीं हो पाया था. इसका मतलब है कि जिमनासिया क्लब शीर्ष डिवीजन में बना रहेगा. डियगो माराडोना इस क्लब के कोच हैं लेकिन लगातार खराब प्रदर्शन के कारण उनके क्लब पर निचले डिवीजन में खिसकने का खतरा मंडरा रहा था.






[ad_2]

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Recent Posts

Covid – 19

Live COVID-19 statistics for
India
Confirmed
29,823,546
Recovered
28,678,390
Deaths
385,137
Last updated: 6 minutes ago

Live Tv

Advertisement

rashifal