क्या चल रहा है?

2007 में कप्तानी मिलते ही धोनी ने पूर्व चयनकर्ता से कहा था- सर वर्ल्ड कप जीतके आएंगे

[ad_1]

महेंद्र सिंह धोनी को 2007 में टी20 वर्ल्ड कप में कप्तानी सौंपी गई थी (MS Dhoni/Instagram)

महेंद्र सिंह धोनी को 2007 में टी20 वर्ल्ड कप में कप्तानी सौंपी गई थी (MS Dhoni/Instagram)

पूर्व चयनकर्ता ने बताया कि धोनी शुरू से ही आश्वस्त कैसे थे, जब उन्हें बागडोर सौंपी गई थी. उन्होंने बताया कि धोनी ने उनसे कहा था कि टीम दक्षिण अफ्रीका से ट्रॉफी लेकर वापस आएगी.

  • News18Hindi

  • Last Updated:
    December 24, 2020, 12:39 PM IST

नई दिल्ली. महेंद्र सिंह धोनी (MS Dhoni) एक लीडर के रूप में अभूतपूर्व थे और उन्हें अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में अब तक के सबसे महान कप्तानों में से एक माना जाता है. धोनी ने भारत को कई शानदार जीत दिलाई. इसी के साथ उनके नाम कप्तानी का एक ऐसा रिकॉर्ड भी दर्ज है, जो कोई नहीं बना सका है. वह दुनिया के इकलौते ऐसे कप्तान हैं, जिन्होंने आईसीसी की तीनों ट्रॉफी- टी20 वर्ल्ड कप 2007, वनडे वर्ल्ड कप 2011 और चैंपियंस ट्रॉफी 2013 जीती हैं. बतौर कप्तान 332 मैच खेलने वाले धोनी ने 2007 में पहली बार टीम इंडिया की कप्तानी संभाली थी.

महेंद्र सिंह धोनी को आईसीसी टी20 वर्ल्ड कप के उद्धाटन सीजन 2007 में भारतीय टीम का कप्तान बनाया गया था. सचिन तेंदुलकर, राहुल द्रविड़ और सौरव गांगुली सभी ने अपने नाम वापस ले लिए थे. ऐसे में धोनी को युवा भारतीय टीम की जिम्मेदारी सौंपी गई. 2007 के वनडे वर्ल्ड कप की निराशा को एक तरफ कर इस टूर्नामेंट के साथ भारतीय क्रिकेट में एक नई सुबह आई. पाकिस्तान के खिलाफ फाइनल में रोमांचक जीत के साथ धोनी ने एक नया उदाहरण पेश किया. हाल ही में पूर्व नेशनल सेलेक्टर संजय जगदाले ने धोनी के सेलेक्शन और उनकी वादे के बारे में बात की.

IND vs AUS: विराट कोहली की पैटरनिटी लीव पर बोले पूर्व भारतीय क्रिकेटर, नेशनल ड्यूटी सबसे पहले

संजय जगदाले 2007 में बीसीसीआई के चयनकर्ता पैनल का हिस्सा था. उन्होंने स्पोर्ट्सकीड़ा के साथ इंटरव्यू में बताया, ”यह 2007 की बात है और में चयनकर्ता था. मैं भारतीय क्रिकेट टीम के साथ इंग्लैंड गया था और हमने वहां वनडे सीरीज खेली थी. दिलीप वेंगसरकर चेयरमैन थे. 2007 की वर्ल्ड कप टीम के लिए हमारी एक मीटिंग थी. सचिन तेंदुलकर, सौरव गांगुली और राहुल द्रविड़ ने हमें कहा कि हम इसके लिए तैयार नहीं. तो हमें एक नई टीम चुननी थी, बहुत युवा टीम और मैं लंदन में था. मैंने अपनी राय रखी और धोनी पहली बार कप्तान बने.”टीम इंडिया पर भड़के सुनील गावस्कर, कहा-कोहली को छुट्टी मिल गई लेकिन नटराजन अभी तक बेटी को नहीं देख पाए

पूर्व चयनकर्ता ने बताया कि धोनी शुरू से ही आश्वस्त कैसे थे, जब उन्हें बागडोर सौंपी गई थी. उन्होंने बताया कि धोनी ने उनसे कहा था कि टीम दक्षिण अफ्रीका से ट्रॉफी लेकर वापस आएगी. उन्होंने आगे कहा, ”सातवां वनडे खत्म होने के बाद मैंने ड्रेसिंग रूम में धोनी से कहा कि यह अच्छी टीम है. इस पर धोनी ने कहा कि सर वर्ल्ड कप जीतके आएंगे. मैं धोनी का यह आत्मविश्वास देखकर हैरान था.”

भारतीय टीम ने जब टी20 वर्ल्ड कप 2007 में एंट्री ली, तब वह दूर-दूर तक फेवरेट नहीं थी. लेकिन टूर्नामेंट के दौरान टीम ने जबरदस्त क्रिकेट खेला और ट्रॉफी को हासिल किया. यह धोनी अगुवाई में भारत के वर्चस्व की शुरुआत थी, क्योंकि इसके बाद ‘मेन इन ब्ल्यू’ ने पूर्व कप्तान के तहत कई बड़े टूर्नामेंट जीते.






[ad_2]

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Recent Posts

Covid – 19

Live COVID-19 statistics for
India
Confirmed
33,347,325
Recovered
0
Deaths
443,928
Last updated: 9 minutes ago

Live Tv

Advertisement

rashifal