क्या चल रहा है?

काश, हार्दिक पांड्या को टेस्ट सीरीज़ के लिए रोक पाते कोहली! | – News in Hindi

[ad_1]

ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ टेस्ट सीरीज से पहले भारतीय टीम (Team India) में एक कमी दिख रही है और वो है छठे नंबर हार्दिक पांड्या (Hardik Pandya) का टीम में नहीं होना. ऑलराउंडर के तौर पर निसंदेह पांड्या तो टेस्ट टीम का स्वाभाविक हिस्सा होते हैं लेकिन सिर्फ बल्लेबाज़ के तौर पर चयनकर्ता उन्हें ऑस्ट्रेलिया दौरे पर टेस्ट सीरीज़ के लिए चुनने की हिम्मत नहीं जुटा सके.

Source: News18Hindi
Last updated on: December 16, 2020, 11:10 AM IST

शेयर करें:
Facebook
Twitter
Linked IN

एडिलेड में होने वाले डे-नाइट टेस्ट मैच से पहले हर जानकार और हर फैन अपनी प्लेइंग इलेवन बनाता दिख रहा है. कोई इस बात पर सर खपा रहा है कि मयंक अग्रवाल का जोड़ीदार ओपनर कौन होगा तो किसी को इस बात की चिंता है कि क्या भारत को सीरीज़ के पहले मुकाबले में 4 तेज़ गेंदबाज़ों के साथ नहीं उतर जाना चाहिए. न्यूज़ीलैंड के ख़िलाफ़ पिछली टेस्ट सीरीज़ की तरह इस सीरीज़ के लिए भी ना तो टीम मैनजेमेंट और ना ही जानकार इस बात पर सहमत हो पा रहे हैं कि ऋद्धिमान साहा को विकेटकीपर के तौर पर खेलने चाहिए या फिर ऋषभ पंत. स्पिनर को भी लेकर वैसी ही उलझन है. रविचंद्रन अश्विन को प्लेइंग इलेवन में विविधता और अनुभव के नाम पर होना चाहिए या फिर कुलदीप यादव के युवा जोश को तव्वोजह देनी चाहिए.

आखिर पांड्या को इतनी जल्दी कैसे सबने भुला दिया?
लेकिन, इन तमाम बातों के बीच जो एक बात हर किसी के ज़ेहन से उतर चुकी है और वो ये कि मैच का रुख़ पलकों में बदलने वाले छठे नंबर हार्दिक पांड्या जैसे खिलाड़ी का टीम में नहीं होना. ऑलराउंडर के तौर पर निसंदेह पांड्या तो टेस्ट टीम का स्वाभाविक हिस्सा होते हैं लेकिन सिर्फ बल्लेबाज़ के तौर पर चयनकर्ता उन्हें ऑस्ट्रेलिया दौरे पर टेस्ट सीरीज़ के लिए चुनने की हिम्मत नहीं जुटा सके. इतिहास गवाह है कि शानदार फॉर्म में चल रहे खिलाड़ी या फिर बेजोड़ प्रतिभाओं पर दांव लगाकर कप्तानों और टीमों ने बड़ी बड़ी जीत हासिल की हैं. मुंबई इंडियंस के कप्तान रोहित शर्मा ने कुछ महीने पहले ही आईपीएल के दौरान पांड्या को सिर्फ एक बल्लेबाज़ के तौर पर खिलाकर हर किसी को हैरान किया था लेकिन जैसे जैसे टूर्नामेंट आगे बढ़ा और मुंबई ने 5वीं बार ख़िताब जीता उससे ये बात और साफ हो गई कि हार्दिक सिर्फ बल्लेबाज़ के तौर ही कई खिलाड़ियों से आगे हैं. ख़ासकर, पिता बनने के बाद जिस तरह की गंभीरता वड़ोदरा के इस खिलाड़ी के अंदाज़ में दिख रही है उससे तो यही लगता है कि पांड्या को टेस्ट सीरीज़ में नहीं होना कहीं टीम इंडिया को काफी अखरे. ख़ासकर, ये देखते हुए कि एक और आक्रामक बल्लेबाज़ रोहित शर्मा का ना तो टेस्ट सीरीज़ में खेलना अब भी तय है और दूसरी बात ये कि एक और शानदार स्ट्रोक प्लेयर विराट कोहली का पहले टेस्ट के बाद भारत वापस लौटना.

ऑस्ट्रेलिया के लिए कोहली-रोहित वाला गुण पांड्या में भीइतिहास गवाह है कि ऑस्ट्रेलियाई पिचों पर दिलेरी से बाउंसी गेंदों का सामना करना किसी भी बल्लेबाज़ के लिए सबसे कड़ी चुनौती होती है. तीव्र गति वाले गेंदों के प्रहार को या तो हंसते हंसते शरीर पर झेलने का माद्दा होना चाहिए या फिर हुक या पुल या कट शॉट के ज़रिए चौके या छक्के लगाने की अदभुत काबिलिलयत. रोहित, कोहली के साथ साथ पांड्या में भी ये गुण है.

Podcast सुनो दिल से: एडिलेड टेस्ट कल से, टीम इंडिया का बहुत कुछ दांव पर

ये ठीक है ऑस्ट्रेलिया दौरे के लिए टीम कई महीने पहले चुन ली गई थी और तब हार्दिक को सिर्फ बल्लेबाज़ के तौर पर टेस्ट टीम में शामिल करना शायद कई जानकारों के गले नहीं उतरता लेकिन जैसा फॉर्म पांड्या ने सफेद गेंद की दो सीरीज़ में दिखाया उससे तो निश्चित तौर पर टेस्ट सीरीज़ के लिए रोका जाना चाहिए था. दुनिया भर में और भारतीय क्रिकेट में भी ऐसे कई उदाहरण आपको मिल जाएंगे जब किसी खिलाड़ी को एक फॉर्मेट में बहुत अच्छा खेल दिखाने के चलते दूसरे फॉर्मेट में के लिए रोक लिया गया वजह चाहे किसी खिलाड़ी का चोटिल होकर बाहर होना रहा हो या फिर किसी का बेहद बुरे फॉर्म से गुज़रना.

सफेद गेंद की फॉर्म लाल गेंद में नहीं दोहरा पाते पंड्या?
वनडे सीरीज़ के दौरान पांड्या ने दिखाया कि वो कोहली से भी बेहतर बल्लेबाज़ थे. 3 मैचों में 105 की औसत से 210 रन बनाने वाले वड़ोदरा के इस धाकड़ खिलाड़ी से ज़्यादा रन सीरीज़ में सिर्फ एरॉन फिंच और स्टीव स्मिथ (सिर्फ 6 रन ज़्यादा) ने बनाए थे. टी20 सीरीज़ के दौरान के कोहली, शिखर धवन और के एल राहुल ने पांड्या से ज़्यादा रन ज़रुर जोड़े लेकिन मैन ऑफ द सीरीज़ का पुरस्कार 3 मैचों में सिर्फ 78 रन(39 की औसत) और 156 के स्ट्राइक रेट से अमिट छाप छोड़ने वाले पांड्या को ही मिला.

गिालक्रिस्ट-सहवाग-वार्नर की ही तरह हो सकते थे हार्दिक?
ऐसे में सवाल यही उठता है कि भले ही पांड्या का औसत करीब 32 का है (लेकिन वो ऑलराउंडर के तौर पर हर मैच खेले) लेकिन टेस्ट क्रिकेट में टॉप 5 स्ट्राइक रेट रखने वाले बल्लेबाज़ हार्दिक को भारतीय चयनकर्ता टेस्ट सीरीज़ के लिए सिर्फ बल्लेबाज़ के तौर क्यों नहीं शामिल कर सकते थे? टेस्ट इतिहास में  सिर्फ 5 बल्लेबाज़ ऐसे हैं जिनका करियर स्ट्राइक रेट हार्दिक से बेहतर है. ये सही बात है कि शाहिद अफरीदी (86.97), वीरेंद्र सहवाग (82.23), एडम गिलक्रिस्ट (81.95), कपिल देव (80.91) और डेविड वार्नर (76.99) ने पांड्या के 11 टेस्ट से ज़्यादा मैचों में अपना लोहा मनवाया है लेकिन इन तमाम विस्फोटक बल्लेबाज़ों के साथ एक समानता ये है कि शुरुआत में इनकी बल्लेबाज़ी शैली को लेकर हमेशा संदेह से देखा गया. अगर अफरीदी को टेस्ट में सिर्फ बल्लेबाज़ के तौर पर ज़्यादा मौके नहीं मिले तो कपिल  देव ज़्यादातर मौकों पर सारी चर्चा सिर्फ अपनी गेंदबाज़ी के बूते ही पाते थे. सहवाग, गिलक्रिस्ट और वार्नर को सिर्फ वनडे या टी20 के लिए बेहतर बल्लेबाज़ शुरु में माना गया लेकिन परंपरा को झुलाते हुए इन खिलाड़ियों ने टेस्ट में बल्लेबाज़ी का नया व्याकरण गढ़ा.

चयनकर्ताओं ने साहसी फैसला दिखाने में फुर्ती नहीं दिखाई
पांड्या में भी वही क्षमता है जिसे उन्होंने आईपीएल, वन-डे और टी20 क्रिकेट में दिखाया था. इस किस्मत कह लें या पांड्या की बदकिस्मती की गेंदबाज़ी के लिए फिट नहीं होने के चलते उनके पास खुद को एक विशुद्ध बल्लेबाज़ के तौर साबित करने का सुनहरा मौका ऑस्ट्रेलिया दौरे पर मिल सकता था लेकिन चयनकर्ताओं ने साहसी फैसला दिखाने में फुर्ती नहीं दिखाई. हो सकता है कि टेस्ट सीरीज़ ख़त्म होने के बाद हर किसी को इस फैसले पर मलाल हो. (डिस्क्लेमर: ये लेखक के निजी विचार हैं.)


ब्लॉगर के बारे में

विमल कुमार

विमल कुमार

न्यूज़18 इंडिया के पूर्व स्पोर्ट्स एडिटर विमल कुमार करीब 2 दशक से खेल पत्रकारिता में हैं. Social media(Twitter,Facebook,Instagram) पर @Vimalwa के तौर पर सक्रिय रहने वाले विमल 4 क्रिकेट वर्ल्ड कप और रियो ओलंपिक्स भी कवर कर चुके हैं.

और भी पढ़ें

First published: December 16, 2020, 11:10 AM IST



[ad_2]

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Recent Posts

Covid – 19

Live COVID-19 statistics for
India
Confirmed
0
Recovered
0
Deaths
0
Last updated: 9 minutes ago

Live Tv

Advertisement

rashifal